mr discount code mr kortings code FACE Classes: समय प्रबंधन का क, ख, ग

Wednesday, March 27, 2019

समय प्रबंधन का क, ख, ग





नमस्कार दोस्तों,

जैसा कि आप सभी जानते है कि मेरा ब्लॉग Motivational Topic पर ही रहता है और मैं ज़्यादातर या यू कहे तो अभी तक अपना सारा Article Motivational Topic पर ही लिखता आ रहा हु । आप सबने मेरे Motivational Article को पसंद भी किया है और सराहा भी है। इसके लिए मै आप सभी का दिल से शुक्रिया अदा करता हूँ । मै हमेशा से कोशिश करता रहा हूँ कि आप सभी के लिए अच्छे से अच्छा आर्टिक्ल लिखु ताकि आप इसे पढ़कर जीवन में सफलता प्राप्त कर सके।





जैसा की आप सभी जानते है कि “समय” ही एक ऐसा चीज है जिसे ईश्वर ने हम सभी को बराबर दिया है। चाहे अमीर हो या गरीब सभी के लिए एक दिन में 24 घंटे होते है। परंतु इस 24 घंटे को कोई कैसे खर्च करता है, सफलता इस बात पर निर्भर करती हैं।

“मिलना बिछड़ना ये दस्तूर है ज़िंदगी का,
बिछड़ के मिलना ये किस्सा, मशहुर है ज़िंदगी का ।
पर बीता हुआ पल, वापस लौट के नहीं आता,
ये सबसे बड़ा, कसूर है ज़िंदगी का ॥”

जी हाँ दोस्तों , सही कहा मैंने जीवन का सबसे बड़ा कसूर है कि एक बार यदि वक़्त हाथ से निकल गया तो फिर वापस कभी नहीं आता। अगर आप सफल होना चाहते है तो सबसे पहला कार्य आपके लिए समय प्रबंधन का हैं । अगर आप सही से अपने समय को इस्तेमाल करेगे तो निश्चित ही सफलता आपको प्राप्त होगी । तो चलिये जानते हैं कि समय प्रबंधन किस प्रकार किया जाये।
time- management
A,B, C of Time Managment

समय प्रबंधन का क,,


एक नेतृत्वकर्ता के लिए समय प्रबंधन सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। नेता हो या समान्य सहयोगी, बिना समय प्रबंधन के न तो वह अपने जीवन की गतिविधियों का संचालन ठीक से कर पाते हैं और न ही आवश्यक कार्य । कुछ भी हो, समय प्रबंधन एक कला है जिसमें सिद्धहस्त होना कोई कठिन काम नहीं है। समय प्रबंधन का मतलब यह नहीं होता है कि हम किसी लक्ष्य या गतिविधियों के लिए प्रतिदिन समय सारणी बनाएँ । यह हमेशा जीवन के प्राथमिकताओं के अनुसार तय होने चाहिए । इसके लिए कार्य या लक्ष्य को श्रेणियों में बाँट लें।


     सबसे मुश्किल और लंबी अवधि वाले लक्ष्यों को “ए” कैटेगरी में रखें। “बी-कैटेगरी” में ऐसे कार्यों को रखें जो ज्यादा महत्वपूर्ण न हों लेकिन इसको सामान्यत: पूरा कर लेना चाहिए। जैसे – बाजार से दैनिक उपभोग वाली वस्तुओं की ख़रीदारी के लिए जाना या पारिवारिक समारोह में जाना इत्यादी बातें इसमें शामिल होती हैं। इस तरह के कार्यों के लिए समय को लेकर ज्यादा स्वतन्त्रता होती है लेकिन इनको भी अंजाम देना जरूरी होता है।


     एक अध्ययन के मुताबिक हर सफल व्यक्ति अपने समय का 60 प्रतिशत भाग “ए” और “बी” कैटेगरी कार्यो को संपादित करने के लिए प्रयोग करते हैं जबकि इसके मुक़ाबले दूसरे लोग ऐसे कार्यो के लिए 50 प्रतिशत ही अपने समय दे पाते हैं। साधारण शब्दों में यह कहा जा सकता है कि 10 प्रतिशत का यह अंतर ही उन्हें विजेता बना देता है। यह मानवीय प्रवृति है कि व्यक्ति मुश्किल कार्यों में से आसान कार्यों को करने में अपने को ज्यादा सहज पाता है। इसलिए ज़्यादातर लोग फोन पर किसी से गपशप या तीन – चार बार ई-मेल चेक करना या विज्ञापन पढ़ने जैसे “सी” कैटेगरी कार्यों से अपने दिन की शुरूआत करते है। हम में से ज़्यादातर लोगों का झुकाव “सी” कैटेगरी की गतिविधियों की तरफ अधिक होता है। उदाहरण के तौर पर टेलीफ़ोन पर अनावश्यक कॉल आपको बार – बार काम से भटकाते है। इसी प्रकार बिन बुलाए मेहमान या सेल्समैन भी आपके कार्यों में बाधा डालते हैं। सेल्समैन या दान मांगने वालों के लिए दरवाजे पर संबंधित निर्देश को चिपका देना चाहिए ।
     अनुपयोगी या सरल कार्य अपनी तरफ ज्यादा ध्यान आकर्षित करते हैं। इसका परिणाम यह होता है कि हम इस पर ज्यादा समय व्यतीत कर देते हैं। ऐसे कार्य जो महत्वपूर्ण है उनपर अपना ध्यान केन्द्रित करके दिन की शुरूआत करना अच्छा होता है। जब हम “सी” कैटेगरी के कार्यों से छुटकारा पाते है तो हम अपने जीवन में ज्यादा से ज्यादा सुधार तथा विकास कर पाते हैं। समय-समय पर हमें ईमानदारी पूर्वक इस बात का भी मूल्यांकन करते रहना चाहिए कि किस तरह की गतिविधियों को अपने जीवन से पूरी तरह से निकलना है और किसे शामिल करना। अपने समय का 5 – 10 प्रतिशत भाग ही “सी” कैटेगरी के कार्यों पर व्यतीत करने के सिद्धांत को अपनाना चाहिए।




time-management
Time Management

     फोन पर गपशप करना लोगों को सबसे अधिक आकर्षित करता है। वर्तमान समय में मोबाइल फोन के आसानी से उपलब्ध होने के कारण लोगों को इससे चिपके हुए देखा जा सकता है। चाहे सुबह की सैर कर रहे हों या अन्य काम, मोबाइल पर इस कदर चिपके रहते है मानों दुनिया उन्ही के बात करने से चल रही है वरना सारी व्यवस्था अस्त- व्यस्त हो जाएगी।


     जब तक जरूरी न हो, तब तक अपना समय बिना मतलब के कार्यों के लिए कदापि खर्च न करें। लोग सच ही कहते है कि समय ही पैसा है लेकिन समय व्यतीत करने और पैसे में एक मुख्य अंतर यह है कि पैसे को बैंक में रखकर ब्याज अर्जित किया जा सकता है लेकिन वही समय केवल खर्च होता है, इसे संग्रहीत नहीं किया जा सकता है । समय का अधिकतम प्रयोग करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि कार्यों को वर्गीकृत करते हुए उसे लिख लेना चाहिए। इससे अनावश्यक कार्यो के शामिल होने से बचाव होता है। साथ ही आपका कदम सही दिशा में अग्रसर होता है।

     कार्य करने को प्राथमिकता दें अन्यथा लिस्ट बनाने का कोई मतलब नहीं रह जाएगा । कार्यो की सूची के साथ इसे निश्चित समय सीमा के अंदर अंजाम देने वाली सूची भी साथ रखें । यही एक तरीका है जिसके माध्यम से आप अपने समय का प्रयोग ज्यादा उत्पादक तरीके से कर सकते हैं। इस तरह से व्यस्थित होकर आप 24 घंटे में अतिरिक्त समय की बचत कर सकते है। इस अतिरिक्त समय में आप उन कार्यों को कर पाते हैं जिसको करने के लिए आप हमेशा समय की कमी का रोना रोते थे। इस तरह से तय है कि आप ज्यादा आनंद का अनुभव कर सकते है।

A, B, C of Time Management


Hello friends,
As you all know, my blog remains on the Motivational Topic and I have been writing mostly on my motivational topic so much or I say. All of you have liked my motivational article and are also appreciated. I thank all of you for this. I have always been trying to write a good article for all of you so that you can achieve success in life by reading it.
As you all know that "time" is something that God has given to all of us equally. Whether rich or poor everybody has 24 hours in a day. But how does anyone spend this 24 hours, success depends on this.

"Meet this split is the way of life,
This is an episode of the splendor, famous is the life.
At the moment, the moment does not come back,
This is the biggest, the fault of life. "

time-management
Time Management
Yes, guys, rightly said I have the biggest fault in life that once the time came out of hand then it will never come back. If you want to succeed, then the first task is to manage your time. If you use your time correctly, surely you will get success. So let's know how to manage time.

Time management is the most important for a leader. Whether a leader or a common aide, without time management, he or she can not do the activities of his life properly, nor do the necessary work. Whatever time management is, time management is an art, in which it is not hard work to be perfected. Time management does not mean that we create daily schedules for any goals or activities. It should always be fixed in accordance with the priorities of life. For this, divide the work or the target into categories.


Keep the most difficult and long-term goals in the "A" category. Keep things in "B-category" which should not be more important but should generally be completed. For example, shopping for daily commodity purchases from the market or going to a family function, etc. are included in this. For such actions, there is more freedom about time but it is also necessary to do the same.



According to one study, every successful person uses 60 percent of his time to edit "A" and "B" category tasks while others against it get 50 percent only for such tasks. In simple terms it can be said that this difference of 10 percent makes them the winner. It is a human tendency that one finds himself more comfortable in doing simple tasks than difficult tasks. So most people start their day with "C" category tasks like chatting with someone on the phone or three or four times checking e-mail or reading ads. Most of us are inclined towards the activities of "C" category. 
For example, unnecessary calls on the telephone allow you to stray from work again and again. Similarly, uninvited guests or salesmen also interfere with your work. Salesmen or donors should stick to the relevant instructions on the door.

Unused or simple tasks attract more attention to themselves. The result is that we spend too much time on this. It is a good idea to start the day by focusing on such activities which are important. When we get rid of the functions of "C" category, we can improve and develop as much as we can in our lives. From time to time, we should be honestly evaluating what kind of activities have to come out of our life completely and who is involved. 5 to 10 percent of its time should adopt the principle of spending on the functions of "C" category.

time-management
Time management



Gossiping on the phone attracts the people most. Due to availability of mobile phones at the present time, people can be seen sticking to it. Whether you are walking in the morning or other activities, stick on the mobile so much as the world is running from talking to them or else all the system will get bogged down.

Until it is not necessary, do not spend your time without doing anything for the purpose. People really say that time is money, but one of the main differences in time spent and money is that interest can be earned by keeping money in the bank but the same time is spent only, it can not be stored. The best way to maximize time is to write down the works while classifying them. This helps in preventing unnecessary work from being included. Also, your move will move in the right direction.

Prefer to work or else there will be no point in making the list. Together with the list of tasks, keep it along with the list of executioners within the time limit. This is the only way through which you can use your time in a more productive manner. In this way you can save extra time in 24 hours. In this extra time, you can do those tasks which you always used to weep for the shortage of time. In such a way that you can experience more happiness.


मेरा संदेश



By :- FACE Classes


4 comments: